Saturday, June 19, 2021

अनुमणिका – दिल्ली सल्तनत की दर्द भरी दास्तान

1.            किताबें लिखे जाने से पहले पूरी दुनिया सनातन धर्म को मानती थी!

2.            अरब के रेगिस्तान में भी पूजे जाते थे भारतीय देवी-देवता!

3.            जेहाद ने इस्लाम को धरती के कौने-कौने तक पहुंचा दिया!

4.            मुहम्मद बिना कासिम ने भारत का जेहाद से प्रथम परिचय करवाया!

5.            हिन्दू राजाओं ने खलीफाओं द्वारा भेजी गई सेनाओं को नष्ट कर दिया!

6.            जब अरबी लड़ाके विफल हो गए तो तुर्की गुलाम इस्लाम को भारत ले आए!

7.            यदि खलीफा मुझे सुल्तान मान ले तो मैं हर साल भारत पर हमला करूंगा!

8.            महमूद के हाथों अपमानित होकर राजा जयपाल जीवित ही चिता पर बैठ गया!

9.            महमूद गजनवी नगरकोट में स्थित चांदी का महल तोड़कर गजनी ले गया!

10.         महमूद गजनवी ने सरस्वती नदी के तट पर लगी चक्रस्वामी की प्रतिमा गजनी के चौक पर डाल दी!

11.         गजनी के आक्रांता ने मथुरा से सोने की बड़ी-बड़ी मूर्तियाँ लूट लीं!

12.         महमूद की शातिराना चालों और भारतीयों की मूर्खताओं ने स्वर्ण-भण्डारों के मुंह खोल दिए!

13.         महमूद ने कन्नौज के प्रतिहारों का सर्वनाश कर दिया!

14.         महमूद गजनवी ने चंदेल राजा विद्याधर को औरतें उपहार में भिजवाईं!

15.         महमूद ने सोमनाथ महालय की देवदासियां और स्वर्ण-भण्डार लूटने का निश्चय किया!

16.         सोने के गहनों से लदी देवदासियां लूटने साँप- बिच्छुओं से भरे रेगिस्तान में घुस गया महमूद!

17.         महमूद ने थार के रेगिस्तान में बने पत्थरों के आश्चर्यों को तोड़ दिया!

18.         महमूद ने सोमनाथ के मंदिर में वही बुत देखे जो इस्लाम के उदय से पहले अरब में पूजे जाते थे!

19.         पचास हजार हिन्दुओं ने आराध्य देव की रक्षा के निमित्त प्राण न्यौछावर कर दिए!

20.         महमूद ने सोमनाथ का हजारों साल पुराना शिवलिंग भंग कर दिया!

21.         भारतीयों ने महमूद को भारत में ही घेरकर मारने की योजना बनाई!

22.         क्या महमूद को सोमनाथ और मनात एक जैसे लगे!

23.         टुबरकुलोसिस और मलेरिया ने महमूद गजनवी की जान ले ली!

24.         भारतीय इतिहासकारों ने महमूद को पवित्र सुल्तान घोषित कर दिया!

25.         सिंध के जाटों ने नियाल्तगीन का सिर काट लिया!

26.         हिन्दू राजाओं के संघ ने गजनी के गवर्नरों से भारतीय दुर्ग खाली करवाए!

27.         लाहौर से लेकर आगरा तक गजनी के सांप लहराने लगे!

28.         राजा सुहेल देव ने सालार मसूद गाजी को मार डाला!

29.         गजनी के गवर्नर डेढ़ सौ साल तक भारत को खोखला करते रहे!

30.         गजनवियों के लिए चौहान रूपी चट्टान को तोड़ना आवश्यक हो गया!

31.         गजनी में सत्ता परिवर्तन ने भारत में तुर्की साम्राज्य की स्थापना का मार्ग खोल दिया!

32.         मुहम्मद गौरी के आक्रमणों के समय बिखरा हुआ था भारत!

33.         मुहम्मद गौरी ने भारत के समस्त मुस्लिम अमीरों के राज्य छीन लिए!

34.         झूठ बोलकर पराजय की पीड़ा छिपाने का प्रयास किया भारतीयों ने!

35.         राजा धीर पुण्ढीर ने मुहम्मद गौरी को युद्ध में जीवित ही पकड़ लिया!

36.         पृथ्वीराज चौहान के मंत्री और सेनापति मुहम्मद गौरी से मिल गए!

37.         मुहम्मद गौरी ने सम्राट पृथ्वीराज का शिविर बूचड़खाने में बदल दिया!

38.         सम्राट पृथ्वीराज चौहान को शत्रुओं ने जीवित ही पकड़ लिया!

39.         पृथ्वीराज चौहान की हत्या के लिए मुहम्मद गौरी और प्रतापसिंह दोनों जिम्मेदार थे!

40.         राजा जयचंद के हाथी ने मुहम्मद गौरी को प्रणाम नहीं किया!

41.         पांच सौ मन हीरों का मालिक अपनी बेटी के मकबरे में दफनाया गया!

42.         एक कुरूप तुर्की गुलाम भारत का भाग्य-विधाता बन गया!

43.         कुतुबुद्दीन ऐबक ने यल्दूज की बेटी से ब्याह कर लिया!

44.         कुतुबुद्दीन ऐबक को भारत का राजमुकुट युद्ध के मैदानों में मिला था!

45.         राजपूतों ने बीठली में घुसकर दरोगा सैयद हुसैन खनग सवार मीरन को मार डाला!

46.         बख्तियार खिलजी ने नालंदा एवं विक्रमशिला के बौद्ध भिक्षुओं एवं स्नातकों को क्रूरता से मारा!

47.         क्या कुतुबुद्दीन ऐबक के राज्य में भेड़ और भेड़ियाएक ही घाट पर पानी पी रहे थे!

48.         जिस कुतुबुद्दीन ऐबक ने उत्तरी भारत को उजाड़ दिया, उसे महान् निर्माता कहा गया!

49.         बुखारा के बाजार का एक और गुलाम दिल्ली का सुल्तान बन गया!

50.         इल्तुतमिश की जान के दुश्मन बन गए कुबाचा, यल्दूज और अलीमर्दान!

51.         अपने शत्रुओं को चुन-चुन कर मारा इल्तुतमिश ने!

52.         राजस्थान के राजपूतों ने इल्तुतमिश को नाकों चने चबवा दिए! 

53.         हिन्दू राजा लड़ते रहे और अपनी धरती बचाते रहे!

54.         इल्तुतमिश ने ग्वालियर दुर्ग के सामने आठ सौ मनुष्यों का कत्ल किया!

55.         हिन्दू राजाओं को भेड़िया और स्वयं को भेड़ समझते थे इल्तुतमिश के सेनापति!

56.         चालीसा का गठन करके अपनी ही औलादों की कब्र खोद दी इल्तुतमिश ने!

57.         भारत में मुस्लिम सल्तनत का वास्तविक संस्थापक कौन था!

58.         एक खूबसूरत बला शाह तुर्कान ने दिल्ली सल्तनत पर कब्जा कर लिया!

59.         दिल्ली के मनचलों ने खूबसूरत शाह तुर्कान का सिर काट दिया!

60.         रजिया घोड़े पर बैठकर तुर्की अमीरों को फटकारने लगी!

61.         रजिया के इतिहास पर सौंदर्य और प्रेम के किस्से हावी हो गए!

62.         याकूत हब्शी से प्रेम करने लगी रजिया सुल्तान!

63.         रजिया ने रणथंभौर तथा ग्वालियर के दुर्ग हिन्दुओं को सौंप दिए!

64.         रजिया ने मक्कार अल्तूनिया से विवाह कर लिया!

65.         कुछ लुटेरों ने रजिया तथा अल्तूनिया को मार दिया!

66.         एतिगीन ने सुल्तान की बहिन से जबर्दस्ती विवाह कर लिया!

67.         नासिरुद्दीन औरतों के कपड़े पहनकर दिल्ली में घुसा और सुल्तान बन गया!

68.         इल्बरी कबीले का एक और गुलाम दिल्ली पर राज करने आ पहुँचा!

69.         सुल्तान नासिरुद्दीन ने हिन्दू राजाओं का क्रूरता से दमन किया!

70.         एक तुर्की गुलाम दिल्ली आकर जिल्लेइलाही बन गया!

71.         मुस्लिम इतिहासकारों ने बलबन को पैगम्बर मान लिया!

72.         बलबन ने प्रत्येक मेव के सिर के बदले चांदी के दो टंके दिए।

73.         बलबन की क्रूरता के आगे तैमूर और नादिरशाह की तलवारों की चमक फीकी पड़ गई!

74.         चित्तौड़ ने बलबन को पराजय की धूल चटाई!

75.         बलबन ने बंगाल के शासक तुगरिल खाँ को लखनौती के बाजार में फांसी पर चढ़ा दिया!

76.         बलबन ने चांदी के लाखों टंकों में भी व्यापारी को दर्शन नहीं दिए!

77.         कुरूप किंतु भाग्यवान् बलबन ने दिल्ली सल्तनत को मजबूती से जमा दिया!

78.         बलबन का शहजादा सल्तनत छोड़कर भाग गया!

79.         सुल्तान कैकुबाद ने पिता को अपने पैरों में गिराकर सलाम करवाया!

80.         खिलजियों ने सुल्तान को लातों से मारकर यमुनाजी में फैंक दिया!

81.         हिन्दुओं के ढोल नगाड़े सुनकर खून के आंसू रोता था जलालुद्दीन खिलजी!

82.         चीटियों और टिड्डियों की तरह छज्जू के साथ हो गए बागी हिन्दू!

83.         सुल्तान ने बागियों का स्वागत शराब और सुंदरियों से किया!

84.         सीदी मौला ने सुल्तान को मारकर भारत का खलीफा बनना चाहा!

85.         मेरे सैनिकों के सिर का एक बाल रणथंभौर के सौ किलों से अधिक कीमती है!

86.         जलालुद्दीन खिलजी ने मंगोलों को अपनी बेटी देकर दिल्ली में बसा लिया!

87.         देवगिरि के यादवों ने अल्लाउद्दीन को पचास मन सोना, पांच मन मोती, दो मन हीरे और एक हजार मन चाँदी दी!

88.         अल्लाद्दीन खिलजी ने सुल्तान का सिर भाले पर लटकाकर अवध के शहरों में घुमाया!

89.         सुल्तानों के खून का प्यासा था दिल्ली का शाही तख्त!

90.         अल्लाउद्दीन खिलजी की सास दिल्ली में घुसने से नहीं रोक सकी अल्लाउद्दीन को!

91.         अल्लाउद्दीन खिलजी ने जलाली अमीरों की आँखें फोड़कर जेल में ठूंस दिया!

92.         अल्लाउद्दीन खिलजी ने नबी बनने का फैसला किया!

93.         मंगोलों ने अल्लाउद्दीन खिलजी को दिल्ली की गलियों में ढूंढा!

94.         अल्लाउद्दीन खिलजी ने मंगोलों के सिर कटवाकर मीनारें बनवाईं!

95.         अल्लाउद्दीन खिलजी ने मंगोलों के कटे हुए सिर सीरी दुर्ग की नींव में डलवाए!

96.         उलूग खाँ कर्ण बघेला की रानी को उठा लाया!

97.         जालोर के चौहानों ने खिलजियों से सोमनाथ के खण्ड छीन लिए!

98.         जैसलमेर के राजकुमारों ने अल्लाउद्दीन खिलजी की माँ को लूट लिया!

99.         भूख से व्याकुल तुर्की सैनिक जैसलमेर का दुर्ग छोड़कर भाग गए!

100.       मंगोल अपनी वेश्याओं को लेकर जालोर से भाग गए!

101.       रणथंभौर दुर्ग में छल से घुस गया अल्लाउद्दीन खिलजी!

102.       चित्तौड़ दुर्ग को मिट्टी में मिलाने निकल पड़ा अल्लाउद्दीन खिलजी!

103.       चित्तौड़ की महारानी को छीनना चाहता था अल्लाउद्दीन!

104.       पृथ्वीराज रासो से आई है मलिक मुहम्मद जायसी की पद्मावती!

105.       राणा हमीर ने शत्रुओं को पत्थरों से बांधकर चित्तौड़ दुर्ग की दीवारों से नीचे गिरा दिया!

106.       शहजादी फीरोजा ने जालोर के राजकुमार वीरमदेव से विवाह करने का प्रण लिया!

107.       वीरमदेव के कटे हुए सिर ने शहजादी को देखकर मुंह फेर लिया!

108.       शहजादी फीरोजा की धाय गुलबहिश्त ने जालोर पर आक्रमण किया!

109.       सिवाना के राजा सातलदेव का विशाल शरीर देखकर अल्लाउद्दीन खिलजी हैरान रह गया!

110.       मलिक काफूर कर्ण बघेला की पुत्री देवलदेवी को उठा लाया!

111.       राजा प्रताप रुद्रदेव ने मलिक काफूर को कोहीनूर हीरा दिया!

112.       अल्लाउद्दीन खिलजी ने सिद्ध कर दिया कि अनपढ़ ही शासन कर सकते हैं!

113.       अल्लाउद्दीन खिलजी के राज्य में वेश्याएं सस्ती थीं और घोड़े महंगेे!

114.       हिन्दू रियाया को पेट भर अनाज नहीं दिया अल्लाउद्दीन खिलजी ने!

115.       तुर्की अमीरों की शराब और वेश्याएं छीन लीं अल्लाउद्दीन खिलजी ने!

116.       मामूली अपराध के संदेह में हाथ-पैर कटवा देता था अल्लाउद्दीन खिलजी!

117.       अल्लाउद्दीन खिलजी की क्रूरता ने दिल्ली सल्तनत को उसके चरम पर पहुंचा दिया!

118.       सर्वथा गौरवहीन था अल्लाउद्दीन खिलजी का शासन!

119.       पागलों की तरह दहाड़ें मार कर रोता था अल्लाउद्दीन खिलजी!

120.       एक किन्नर ने अल्लाउद्दीन खिलजी की बेगम से विवाह कर लिया!

121.       सुल्तान मुबारक खाँ नंगा होकर दरबार में दौड़ने लगा!

122.       इस्लाम के नाम पर तुर्की अमीरों ने भारतीय अमीरों को नष्ट कर दिया!

123.       खुरासान से आया गुमनाम व्यक्ति भारत का सुल्तान बन गया!

124.       गाजी तुगलक ने हिन्दू प्रजा पर धन रखने से रोक लगा दी!

125.       शहजादे ने सुल्तान को तम्बू के नीचे दबा कर मार दिया!

126.       निजामुद्दीन औलिया और अब्बासी खलीफा ने मुहम्मद तुगलक को दिल्ली का सुल्तान मान लिया!

127.       मुहम्मद बिन तुगलक ने किसानों को जंगलों से पकड़कर मार डाला!

128.       लोग गालियां लिखे कागज तीरों में बांधकर मुहम्मद बिन तुगलक के महल में फैंकते थे!

129.       तुगलक की सेना ने घरों में घुसकर सोने-चांदी की मुद्राएं छीन लीं!

130.       कराजली औरतों के लिए मुहम्मद तुगलक ने कराजल पर हमला किया!

131.       मुहम्मद बिन तुगलक ने बागी अमीरों की खाल में भूसा भरवा कर देश भर में घुमाया!

132.       मुहम्मद बिन तुगलक के जीते जी हिन्दुओं ने विजयनगर तथा चित्तौड़गढ़ राज्य खड़े कर लिए!

133.       दक्षिण भारत में पांच शिया राज्य खड़े हो गए!

134.       मुल्ला-मौलवियों ने मुहम्मद बिन तुगलक को पागल घोषित कर दिया!

135.       खतरे में थे हिन्दुओं के चोटी, पोथी और मूर्ति!

136.       फीरोज तुगलक ने मुल्ला-मौलवियों पर धन की बरसात कर दी!

137.       उलेमाओं के हाथों की कठपुतली बन गया फीरोज तुगलक!

138.       माफी नहीं देने वालों को फीरोज तुगलक के सैनिकों ने जमकर मारा!

139.       मुस्लिम स्त्रियों का करुण क्रंदन नहीं सुन सकता था फीरोज तुगलक!

140.       लूट के माल में से पांचवा हिस्सा लेता था फीरोज तुगलक!

141.       अपराधी को महल के समक्ष जीवित जलवाता था फीरोजशाह तुगलक!

142.       औरतों के कपड़ों में छिपकर सुल्तान से मिला शहजादा!

143.       फीरोजशाह तुगलक ने मूर्तिपूजक ब्राह्मण को लड़की की मुहर के साथ जीवित जला दिया!

144.       वजीर अय्याशी करता रहा और दिल्ली सल्तनत बिखरती रही!

145.       तुर्की अमीर दरबार में वेश्याएं नचाते रहे और दिल्ली सल्तनत बिखरती रही!

146.       प्रत्येक तुगलक ने दिल्ली सल्तनत के कफन में एक कील ठोक दी!

147.       तैमूर लंग ने भटनेर के किले में दस हजार हिन्दुओं को मार डाला!

148.       तैमूर लंग ने दिल्ली के बाहर एक लाख हिन्दू मार डाले!

149.       दिल्ली शहर में तैमूर लंग ने आकाश तक ऊंचे मानव-खोपड़ियों के ढेर लगवा दिए!

150.       लाखों पहाड़ी हिन्दुओं ने स्वातंत्र्य देवी के श्रीचरणों में अपने प्राण न्यौछावर किए!

151.       तैमूर लंग के विध्वंस के बाद लोग एक दूसरे से आँख नहीं मिलाते थे!

152.       समरकंद की तरफ से दिल्ली पर शासन करने लगा खिज्र खाँ!

153.       दिल्ली का तख्त छोड़कर बदायूँ चला गया सुल्तान!

154.       अफगानिस्तान से आए लोदी दिल्ली के सुल्तान बन गए!

155.       सिकंदर लोदी ने अफगानी अमीरों को तमीज से पेश आने का पाठ पढ़ाया!

156.       सिकंदर लोदी ने दिल्ली सल्तनत के प्रत्येक अंग पर शिकंजा कस लिया!

157.       मुस्लिम औरतों को पीरों की मजारों पर जाने से रोक दिया सिकंदर लोदी ने!

158.       हिन्दुओं को तीर्थों में स्नान करने से रोक दिया सिकंदर लोदी ने!

159.       सिकंदर लोदी ने ग्वालियर के तोमरों के विरुद्ध जेहाद घोषित किया!

160.       सिकंदर लोदी को लगता था कि अफगानी अमीर सुल्तान के गुलामों की पालकी भी उठा लेंगे!

161.       इब्राहीम लोदी ने अपने भाई जलाल खाँ की हत्या करवा दी!

162.       इब्राहीम लोदी ने अपने विजयी सेनापति को छल से पकड़ लिया!

163.       इब्राहीम लोदी ने ग्वालियर के राजा को शम्साबाद का जागीरदार बना दिया!

164.       हुमायूँ ने विक्रमादित्य की रानी से कोहिनूर छीन लिया!

165.       महाराणा सांगा ने इब्राहीम लोदी में कसकर मार लगाई!

166.       अपने अमीरों के खून का प्यासा था इब्राहीम लोदी!

167.       इब्राहीम लोदी ने अपने सेनापतियों को आपस में लड़वाकर मरवा दिया!

168.       बाबर ने लोदी सैनिकों के सिरों का चबूतरा बनवाया!

169.       दिल्ली सल्तनत के काल में काश्मीर में मुस्लिम जनसंख्या का प्रसार हो गया!

170.       जौनपुर तथा खानदेश दिल्ली सल्तनत से अलग हो गए!

171.       बंगाल को अपने अधीन नहीं रख पाई दिल्ली!

172.       बंगाली सुल्तानों की छत्रच्छाया में बंगाल में मुस्लिम जनसंख्या का प्रसार हो गया!

173.       दिल्ली सल्तनत से मुक्त होने पर गुजरात में मुस्लिम जनसंख्या का प्रसार हुआ!

174.       प्रतिदिन जहर खाकर जिंदा रहता था गुजरात का महमूद बेगड़ा!

175.       गोरियों एवं खिलजियों ने मालवा में मुस्लिम जनसंख्या का प्रसार किया!

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,585FansLike
2,651FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles