Tuesday, May 18, 2021

लाल किले की दर्द भरी दास्तां

इतिहास पुरुष

आधुनिक भारत का इतिहास

आधुनिक भारत का इतिहास, लेखक डॉ. मोहनलाल गुप्ता – अनुक्रमणिका

अध्याय भारत में यूरोपीय जातियों का आगमनयूरोपियन जातियों के आगमन का उद्देश्य, पुर्तगालियों का प्रवेश, डचों का प्रवेश, अंग्रेजों का आगमन, फ्रांसीसियों का आगमन।अंग्रेजों...

अध्याय – 1 : भारत में यूरोपीय जातियों का आगमन

सिकंदर के भारत में आने (523 ई.पू.) से भी बहुत पहले, रोम के एक शासक ने कहा था- 'भारतीयों के बागों में मोर, उनके...

अध्याय – 2 : अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की राजनीतिक स्थिति – 1

अँग्रेज भारत में समुद्री मार्ग से 1608 ई. में आये। उस समय भारत में मुगल बादशाह जहाँगीर का शासन था। मुगलों की केन्द्रीय सत्ता...

साहित्य

बुढ़िया का चश्मा , (हिन्दी लघु नाटक)

प्रस्तावना बुढ़िया का चश्मा भारतीय राजनीति तथा भारत में फैले भ्रष्टाचार पर एक करारा व्यंग्य है। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद लोगों की आकांक्षाएं जिस प्रकार...

अश्वत्थामा के आँसू

हास्य व्यंग्य नाटिका भूमिका महाभारत का युद्ध हुए 5300 वर्ष से भी अधिक समय व्यतीत हो चुका है किंतु आज भी महाभारत की कथा का रोमांच...

प्रस्तावना

अकबर के राज्यारोहण के समय राजस्थान में ग्यारह रियासतें थीं जिनमें से मेवाड़, बांसवाड़ा, डूंगरपुर तथा प्रतापगढ़ पर गुहिल, जोधपुर एवं बीकानेर पर राठौड़,...
21,585FansLike
2,651FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Most Popular

मध्यकालीन भारत

7. यदि खलीफा मुझे सुल्तान मान ले तो मैं हर साल भारत पर हमला करूंगा!

ई.997 में गजनी के तुर्की सरदार सुबुक्तगीन की मृत्यु हो गई। यद्यपि महमूद, सुबुक्तगीन का बड़ा पुत्र था तथा उसे युद्धों में सेनाओं का...

8. महमूद के हाथों अपमानित होकर राजा जयपाल जीवित ही चिता पर बैठ गया!

ईस्वी 999 में महमूद गजनवी गजनी का शासक बना। जैसे ही खलीफा ने उसे सुल्तान स्वीकार किया वैसे ही महमूद गजनवी ने भारत पर...

9. महमूद गजनवी नगरकोट में स्थित चांदी का महल तोड़कर गजनी ले गया!

ई.1002 में पंजाब के हिन्दूशाही राजा जयपाल ने महमूद गजनवी से पराजित होने के बाद जीवित ही अग्नि में प्रवेश किया तथा उसका पुत्र...

10. महमूद गजनवी ने सरस्वती नदी पर लगी चक्रस्वामी की प्रतिमा गजनी के चौक पर डाल दी!

पंजाब का हिन्दूशाही राजा आनंदपाल नहीं चाहता था कि मूलस्थान पर मुसलमानों का शासन हो इसलिए जब भी गजनी के मुसलमान मूलस्थान पर अधिकार...

11. गजनी के आक्रांता ने मथुरा से सोने की बड़ी-बड़ी मूर्तियाँ लूट लीं!

महमूद गजनवी ई.1000 से भारत पर हमले करके भारत की जनता को लूट रहा था। महमूद ने बगदाद के खलीफा को जो वचन दिया...

विश्व-इतिहास

प्रस्तावना

अत्यंत प्राचीन काल से भारतीय ऋषि-मुनि मानव मात्र को सुखी बनाने के उद्देश्य से धरती के विभिन्न द्वीपों और दूरस्थ देशों की यात्रा करके...

अनुक्रमणिका

1. इण्डोनेशियाई द्वीपों के पौराणिक संदर्भ-  जावा द्वीप का प्रारम्भिक इतिहास, गुप्तकाल में जावा एवं अन्य ईस्ट-इण्डीज द्वीपों पर भारतीय राजाओं का प्रसार, जावा...

Latest Articles

7. यदि खलीफा मुझे सुल्तान मान ले तो मैं हर साल भारत पर हमला करूंगा!

ई.997 में गजनी के तुर्की सरदार सुबुक्तगीन की मृत्यु हो गई। यद्यपि महमूद, सुबुक्तगीन का बड़ा पुत्र था तथा उसे युद्धों में सेनाओं का...

8. महमूद के हाथों अपमानित होकर राजा जयपाल जीवित ही चिता पर बैठ गया!

ईस्वी 999 में महमूद गजनवी गजनी का शासक बना। जैसे ही खलीफा ने उसे सुल्तान स्वीकार किया वैसे ही महमूद गजनवी ने भारत पर...

अनुक्रमणिका – चंद्रवंशी राजाओं की कथाएँ

1 ब्रह्माजी ने सोम को ब्राह्मण, बीज, वनस्पति और जल का सम्राट बना दिया! 2 चंद्रमा ने देवगुरु बृहस्पति की पत्नी का हरण कर लिया! 3...

9. महमूद गजनवी नगरकोट में स्थित चांदी का महल तोड़कर गजनी ले गया!

ई.1002 में पंजाब के हिन्दूशाही राजा जयपाल ने महमूद गजनवी से पराजित होने के बाद जीवित ही अग्नि में प्रवेश किया तथा उसका पुत्र...

10. महमूद गजनवी ने सरस्वती नदी पर लगी चक्रस्वामी की प्रतिमा गजनी के चौक पर डाल दी!

पंजाब का हिन्दूशाही राजा आनंदपाल नहीं चाहता था कि मूलस्थान पर मुसलमानों का शासन हो इसलिए जब भी गजनी के मुसलमान मूलस्थान पर अधिकार...

लेखकीय – चंद्रवंशी राजाओं की कथाएँ

भारत के प्राचीन क्षत्रियों एवं पश्चवर्ती राजपूत कुलों ने अपनी पहचान सूर्यवंशी एवं चंद्रवंशी राजाओं के रूप में स्थापित की। भारत के समस्त आर्य-राजकुल...

Must Read