Monday, September 26, 2022

लाल किले की दर्द भरी दास्तां

इतिहास पुरुष

आधुनिक भारत का इतिहास

आधुनिक भारत का इतिहास, लेखक डॉ. मोहनलाल गुप्ता – अनुक्रमणिका

अध्याय अध्याय – 1 : भारत में यूरोपीय जातियों का आगमनअध्याय – 2 : अंग्रेजों के आगमन के समय भारत की राजनीतिक स्थिति -...

अध्याय – 1 : भारत में यूरोपीय जातियों का आगमन

सिकंदर के भारत में आने (523 ई.पू.) से भी बहुत पहले, रोम के एक शासक ने कहा था- 'भारतीयों के बागों में मोर, उनके...

अध्याय – 2 : अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की राजनीतिक स्थिति – 1

अँग्रेज भारत में समुद्री मार्ग से 1608 ई. में आये। उस समय भारत में मुगल बादशाह जहाँगीर का शासन था। मुगलों की केन्द्रीय सत्ता...

साहित्य

बुढ़िया का चश्मा , (हिन्दी लघु नाटक)

प्रस्तावना बुढ़िया का चश्मा भारतीय राजनीति तथा भारत में फैले भ्रष्टाचार पर एक करारा व्यंग्य है। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद लोगों की आकांक्षाएं जिस प्रकार...

अश्वत्थामा के आँसू

हास्य व्यंग्य नाटिका भूमिका महाभारत का युद्ध हुए 5300 वर्ष से भी अधिक समय व्यतीत हो चुका है किंतु आज भी महाभारत की कथा का रोमांच...

प्रस्तावना

अकबर के राज्यारोहण के समय राजस्थान में ग्यारह रियासतें थीं जिनमें से मेवाड़, बांसवाड़ा, डूंगरपुर तथा प्रतापगढ़ पर गुहिल, जोधपुर एवं बीकानेर पर राठौड़,...
21,585FansLike
2,651FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Most Popular

मध्यकालीन भारत

181 क्या अनारकली पर अधिकार को लेकर लड़े थे अकबर और सलीम!

राजा मानसिंह कच्छवाहा तथा खानेआजम अजीज कोका ने अकबर के आदेश पर सलीम के पुत्र खुसरो को अकबर का उत्तराधिकारी घोषित करने की तैयारी...

182 महान् अकबर शराबी बेटों के लिए रोता हुआ संसार से चला गया!

अकबर ने सलीम की बगावत से नाराज होकर सलीम को राज्याधिकार से वंचित करने तथा सलीम के पुत्र खुसरो का अपना उत्तराधिकारी बनाने का...

183 हिन्दू राजाओं को अपने राज्य में जाने के लिए अकबर से छुट्टी लेनी होती थी!

15 अक्टूबर 1605 को अकबर की मृत्यु हो गई। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि भारत में सोलहवीं सदी का उत्तरार्ध अकबर...

184 वेश्याओं के यहाँ जाने वालों के नाम रजिस्टर में लिखवाता था अकबर!

अकबर ने हिन्दू राजाओं पर मजबूती से शिकंजा कसकर उन्हें अपने अधीन कर लिया तथा उन्हीं से अपने राज्य-विस्तार का कार्य करवाया। अकबर ने...

185 गोस्वामी तुलसीदासजी से पीछे रह गया अकबर!

आज अकबर की मृत्यु हुए 417 वर्ष बीत चुके हैं। भारत में शायद ही कोई ऐसा शिक्षित व्यक्ति हो जिसने अकबर का नाम न...

विश्व-इतिहास

अनुक्रमणिका – कैसे बना था पाकिस्तान

1. अनुक्रमणिका - कैसे बना था पाकिस्तान 2. प्राक्कथन 3. भारत स्वयं में एक महाद्वीप है! 4. इस्लाम का वैश्विक विस्तार 5. इस्लाम के विश्वव्यापी प्रसार...

प्राक्कथन

इस पुस्तक को लिखने की पहली बार मेरी इच्छा वर्ष 1985 में हुई थी। यह वह दौर था जब श्रीमती इंदिरा गांधी की हत्या...

Latest Articles

प्रजापालक राजाओं के आदर्श महाराजा अग्रसेन

महाराजा अग्रसेन का इतिहास पाँच हजार साल से भी अधिक पुराना है। वे भगवान श्रीकृष्ण के समकालीन थे। उनका जन्म द्वापर के अंतिम चरण...

सम्पूर्ण विश्व भारतीय ज्योतिष एवं कालगणना का ऋणी है!

प्रसिद्ध फ्रांसीसी ज्योतिषी विओट ने लिखा है कि भारतीयों ने नक्षत्र ज्ञान चीनियों से ग्रहण किया। एक अन्य यूरोपीय विद्वान ह्विटनी भी इस मत...

हनुमान बाहुक में काल की करालता

हनुमानबाहुक एक लघु काव्यग्रंथ है जिसमें केवल 44 पद हैं। आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने इसे गोस्वामी तुलसीदासजी की अत्यंत प्रौढ़ रचना माना है। अवधी...

चीन ने ढहा दीं भारत के चारों ओर चुनी हुई सरकारें!

19वीं शताब्दी के प्रारम्भ में फ्रांसीसी सम्राट नेपोलियन बोनापार्ट ने चीन के सम्बन्ध में चेतावनी देते हुए कहा था- 'वहाँ एक दैत्य सो रहा...

तेरी गठरी में लागा चोर!

जीवन एक अनंत यात्रा है जो जन्म-जन्मांतर तक चलती है। हम इस यात्रा के अनंत यात्री हैं। जैसा कि प्रत्येक यात्रा में होता है,...

सीजर की पत्नी को संदेहों से परे होना चाहिए!

एक पुरानी रोमन कहावत है कि सीजर की पत्नी को संदेहों से परे होना चाहिए। (Caesar's wife must be above suspicion) इस कहावत का...

Must Read

// disable viewing page source