Monday, November 29, 2021

चित्रकूट का चातक

इस उपन्यास में अकबर के प्रधान सेनापति अब्दुर्रहीम खनाखाना की जिंदगी को आधार बनाया गया है जो हिन्दी के सबसे बड़े कवियों में से एक हैं तथा भगवान श्रीकृष्ण के ऐसे भक्तों में सम्मिलित किए जाते हैं जिन्हें भगवान ने स्वयं दर्शन दिए!

Latest articles

सब भीतर ही भीतर गांधी के खिलाफ थे

0
2 जून 1947 को माउंटबेटन ने कांग्रेस की ओर से नेहरू, पटेल तथा कांग्रेस अध्यक्ष आचार्य कृपलानी को, मुस्लिम लीग की ओर से जिन्ना,...

कांग्रेस कार्यसमिति में पाकिस्तान को स्वीकृति

0
3 जून 1947 को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हुई जिसमें माउंटबेटन योजना स्वीकार कर ली गई। बैठक में इसे अस्थाई समाधान बताया गया...

गांधीजी द्वारा पाकिस्तान निर्माण पर सहमति

0
4 जून 1947 को माउंटबेटन को सूचना मिली कि आज शाम की प्रार्थना सभा में गांधीजी देशवासियों से अपील करेंगे कि वे विभाजन की...

मुहम्मद अली जिन्ना की हत्या का प्रयास

0
माउंटबेटन योजना पर विचार करने के लिए 9-10 जून 1947 को दिल्ली के इम्पीरियल होटल में ऑल इण्डिया मुस्लिम लीग की बैठक बुलाई गई।...

भारत विभाजन प्रस्ताव को स्वीकृति

0
कांग्रेस अधिवेशन में भारत विभाजन को स्वीकृति 14 जून 1947 को कांग्रेस महासमिति (एआईसीसी) की बैठक में गोविंदवल्लभ पंत ने देश के विभाजन की माउंटबेटन...