Monday, September 20, 2021

अनुक्रमणिका – बाबर के बेटों की दास्तान

बाबर के बेटों की दर्द भरी दास्तान – प्राक्कथन
1कुत्तों का मांस खाने लगे ययाति के वंशज!
2नुकीली टोपी वाले हूणों का एक कबीला तुर्क कहलाने लगा !
3तुर्कों ने मंगोलों से खाँ की उपाधि छीन ली!
4मुस्लिम देशों में चंगेज खाँ ने अधिक विनाश किया!
5खलीफा के महल की औरतें बगदाद की गलियों में घसीटी गईं!
6हलाकू ने खलीफा को नमदे में लपेट कर मार डाला!
7मंगोल सम्राट बर्के खाँ के इस्लाम स्वीकार करने से मंगोल-राजनीति उलझ गई!
8तैमूर लंग और चंगेज खाँ का रक्त बहता था बाबर की नसों में!
9बचपन में ही बूढ़ा हो गया था बाबर!
10एक सौ ग्यारह साल की बुढ़िया ने बाबर को रास्ता दिखाया!
11भारत की भेड़, बकरियों एवं भैंसों पर टूट पड़े बाबर के सैनिक!
12पहाड़ी डाकुओं जैसी थी बाबर की सेना!
13उज्बेकों को मारने के लिए बाबर शिया बन गया!
14बाबर को बंदूक और बारूदी तोप बनाने वाले मिल गए!
15सुंदर दासियों के लिए हजारों नौजवान अफगानिस्तान से भारत चल पड़े!
16डफलियाँ और चंग बजाते हुए भारत के लिए चल पड़े अफगान लुटेरे!
17बाबर ने पंजाब के शासक दौलत खाँ को घुटनों पर गिराकर सलाम करवाया!
18हिसार जीतने पर बाबर ने हुमायूँ को एक करोड़ रुपए का पुरस्कार दिया!
19बाबर ने पांच घण्टे में जीत ली दिल्ली सल्तनत!
20बाबर को इब्राहीम लोदी का कटा हुआ सिर मिल गया!
21बदायूनीं ने पानीपत के मैदान में प्रेतों की मारकाट की आवाजें सुनीं!
22भारतीयों की लंगोट का मजाक उड़ाता था बाबर!
23मैं हिन्दुस्तान की इच्छा करूं तो मेरा मुँह काला हो!
24हिन्दुस्तानियों को भूनने के लिए बाबर ने आगरा में बड़ी तोपें ढलवाईं!
25इब्राहीम लोदी की माता ने बाबर को जहर दे दिया!
26बाबर ने महाराणा सांगा पर झूठा आरोप लगाया!
27महाराणा सांगा के भय से तोपगाड़ियों के पीछे छिपकर रहता था बाबर!
28महाराणा सांगा से भयभीत बाबर ने शराब से तौबा कर ली!
29शेख जैनी ने महाराणा सांगा की तुलना एक आंख वाले दज्जाल से की!
30मीरांबाई के ताऊ, पिता और चाचा ने राणा सांगा को खानवा के मैदान से जीवित ही बाहर निकाल लिया!
31सलहदी और खानजादा ने युद्ध के बीच में सांगा को छोड़ दिया!
32बाबर को जीते बिना चित्तौड़ नहीं जाऊंगा!
33खानवा के मैदान में हिन्दू राजाओं ने हिन्दुस्तान खो दिया!
34बाबर की बेगमें और बेटे एक-एक करके हिन्दुस्तान आने लगे!
35फजल अब्बास कलंदर ने बाबर से अयोध्या में मस्जिद बनाने को कहा!
36राजगुरु देवीनाथ पांडे ने श्रीराम जन्मभूमि हेतु पहला बलिदान दिया!
37बाबर रूपी चिड़िया दिल्ली सलतनत रूपी दाना चुग चुकी थी!
38हुमायूँ की माता ने बाबर से कहा आप हमारे पुत्र को भूल जाइए!
39व्यक्तित्व विकृति का शिकार था बाबर!
40बाबर ने भारत के अतिरिक्त और कहीं भी भवन नहीं तोड़े!
41बाबर की आंखों के सामने नष्ट हो गया अधिकांश बाबरनामा!
42मुगलों की बड़ी निंदा किया करता था बाबर!
43हेरात के शिया परिवार की बेटी थी हुमायूँ की माता!
44बाबर ने हुमायूँ को कांटों का ताज सौंपा था!
45हुमायूँ ने अपना राज्य अपने स्वार्थी भाइयों में बांट दिया!
46मिर्जा कामरान ने बड़े भाई हुमायूँ की पीठ में पहली छुरी मारी!
47हुमायूँ के बहनोई ने हुमायूँ की पीठ में दूसरी छुरी भौंकी!
48गुजरात का सुल्तान समुद्र में डूब कर मर गया!
49बाबर के प्रधानमंत्री खलीफा का नौकर था शेर खाँ!
50शेर खाँ ने हुमायूँ को जमकर मूर्ख बनाया!
51शेर खाँ ने हाथ में फावड़ा लेकर हुमायूँ के दूत से बात की!
52शेर खाँ ने राजा चिंतामणि के साथ घिनौना व्यवहार किया!
53मिर्जा हिन्दाल ने हुमायूँ की पीठ में तीसरी छुरी मारी!
54शेर खाँ ने हुमायूँ के लिए मौत का भयानक जाल बिछा दिया!
55शेर खाँ ने हुमायूँ के हरम की औरतें पकड़ लीं!
56बाबर के बेटे अपने ही भाई को नष्ट करने पर तुल गए!
57मिर्जा कामरान बलपूर्वक गुलबदन को लाहौर ले गया!
58एक भी गोली चलाए बिना हुमायूँ हिंदुस्तान हार गया!
59अपने परिवार की औरतों को मार डालना चहता था हुमायूँ!
60दर-दर के भिखारी हो गए बाबर के बेटे!
61हुमायूँ से विवाह कैसे करूं मेरे हाथ उसकी गर्दन तक नहीं पहुंचते!
62हुमायूँ के नौकरों ने हुमायूँ के किले छीन लिए!
63तर्दीबेग ने हमीदा बेगम को घोड़ा देने से मना कर दिया!
64अमरकोट के राणा ने हुमायूँ को नया जीवन प्रदान किया!
65हिन्दू राजाओं के नाराज होने से हुमायूँ को भारत से भागना पड़ा!
66हुमायूँ ने खानजादः बेगम को अपनी दूत बनाकर भेजा!
67अब तो दुश्मनों को भी हुमायूँ पर दया आ गई!
68पिशाचों के देश में पहुंच गया हुमायूँ!
69ईरान की बेगम ने हमीदा बानू बेगम का शानदार स्वागत किया!
70रौशन कोका ने बादशाह के हीरे चुरा लिए!
71फारस की शहजादी ने हुमायूँ के प्राणों की रक्षा की!
72कांधार के किले के धन को लेकर मारकाट मच गई!
73मुगलिया राजनीति की प्रमुख आधार थी खानजादः बेगम!
74कामरान हुमायूँ को चकमा देकर भाग गया!
75चालीस लड़कियां हरे कपड़े पहनकर पहाड़ों पर घूमने लगीं!
76कामरान ने हुमायूँ के मित्रों की औरतें एक-दूसरे को दे दीं!
77 कामरान ने अकबर को तोपों के आगे लटका दिया!
78हुमायूँ ने आधी रात को काबुल में घुसकर औरतों को छुड़ाया!
79हुमायूँ की सेना उसे उजबेगों के सामने अकेला छोड़कर भाग गई!
80बाबर के बेटे ने चचेरे भाई की पत्नी को प्रेमपत्र लिखा!
81हरम बेगम ने अपने जेठ हुमायूँ को विशाल सेना तैयार करके दी!
82बुग्गा फाड़कर रोने लगा हुमायूँ।
83हुमायूँ की कृपाओं के उपरांत भी उसके भाइयों ने दुष्टता नहीं छोड़ी!
84हुमायूँ के अमीरों ने हुमायूँ को युद्ध-क्षेत्र में मारने का षड़यंत्र रचा!
85कामरान ने हुमायूँ की मृत्यु की अफवाह फैला दी!
86हुमायूँ के डर से कामरान बाल मुण्डवाकर दरवेश बन गया!
87हिंदाल का तरकस देखकर कामरान ने पगड़ी धरती पर फैंक दी!
88हुमायूँ को चकमा देकर कामरान अफगानिस्तान से भारत भाग गया!
89अकबर के शौक देखकर हुमायूँ चिंतित हो गया!
90औरतों के कपड़े पहनकर भाग निकला बाबर का बेटा!
91मुल्लाओं ने बादशाह से कहा कि वह कामरान को मार दे!
92हुमायूँ ने मिर्जा कामरान की आंखों में नश्तर फिरवा दिया!
93एक दरवेश हुमायूँ के लिए जूतियां लेकर भारत से काबुल पहुंचा!
94लेखकों ने धर्मांध शेरशाह सूरी को राष्ट्रनिर्माता घोषित कर दिया!
95अफगानों ने अपनी औरतें मुगलों की हवस बुझाने के लिए सौंप दीं!
96हुमायूँ की ठोकर से ताश के पत्तों की तरह ढह गई सूर सल्तनत!
97अबुल फजल को झूठा इतिहास लिखने की प्रेरणा बाबर से मिली थी!
98हुमायूँ अपने हरम को काबुल से दिल्ली लाने के लिए बेचैन हो गया!
99सत्रह दिन तक नकली हुमायूँ शाही महल की छत पर घूमता रहा!
100भारत की राजनीति से अदृश्य हो गए बाबर के बेटे!
101 शत्रुओं और समस्याओं की लम्बी सूची छोड़ गया बाबर का बेटा!

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,585FansLike
2,651FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles